मांगों को लेकर दिल्ली बॉर्डर तक पहुंचे किसान

0
14
Share Now :

नई दिल्ली: कर्ज माफी, गन्ना की कीमतों समेत कई अन्य मांगों को लेकर हजारों किसान दिल्ली बॉर्डर पर पहुंच चुके हैं। किसानों को राजधानी में प्रवेश करने से रोकने के लिए दिल्ली पुलिस अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। इसके लिए पूरे यमुनापार में धारा-144 लगा दी गई है और यूपी से दिल्ली में प्रवेश करने के सभी रास्तों को बंद कर दिया गया है। गाजियाबाद बॉर्डर पर किसानों को रोक दिया गया है। दिल्ली में दाखिल होने वाले हर रास्ते को सील कर दिया गया है। दिल्ली से कौशांबी जाने वाले रूट में भी बदलाव किया गया है।

ये हैं किसानों की मांग
-किसान 60 साल की आयु के बाद पेंशन देने की मांग कर रहे हैं।
-पीएम फसल बीमा योजना में बदलाव करने की मांग।
-गन्ना की कीमतों का जल्द भुगतान की मांग।
-किसान कर्जमाफी की भी मांग कर रहे हैं।
-सिंचाई के लिए बिजली मुफ्त में देने की भी मांग।
-किसान क्रेडिट कार्ड पर ब्याज मुक्त लोन।
-आवारा पशुओं से फसल का बचाव।
-सभी फसलों की पूरी तरह खरीद की मांग भी की गई है।
-इसके अलावा किसान स्वामीनाथन कमिटी की रिपोर्ट को लागू करने की भी मांग है।
-गन्ने की कीमतों के भुगतान में देरी पर ब्याज देने की मांग कर रहे हैं।

पूर्वी दिल्ली में धारा 144 लागू 
सोमवार शाम ईस्ट डिस्ट्रिक्ट के डीसीपी पंकज सिंह ने पूरी ईस्ट दिल्ली में धारा-144 लगाने का आदेश जारी कर दिया। खास बात यह है कि ये आदेश 8 अक्टूबर तक लागू रहेगा। इस दौरान लोगों के इकट्ठा होने, ट्रैफिक को डिस्टर्ब करने, लाउडस्पीकर के इस्तेमाल, भाषणबाजी, हथियारों के इस्तेमाल, लाठी और चाकू जैसी चीजों के इस्तेमाल, पत्थर इकट‌्ठा करने, मशाल जलाने जैसी तमाम गतिविधियों पर रोक लगा दी गई है। उल्लंघन करने वालों को तुरंत गिरफ्तार किया जाएगा। वहीं नॉर्थ-ईस्ट डिस्ट्रिक्ट में भी 4 दिनों के लिए धारा 144 लगा दी गई है।


Share Now :