इस वजह से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की ‘जान’ थी मुश्किल में

0
17
Share Now :

देश के कई होनहार नेता कई विमान दुर्घटनाओं में असमय मौत का शिकार हो गए. विमानन मंत्रालय की एक रिपोर्ट के मुताबिक अप्रैल में सिर्फ 15 सेकेंड अगर राहुल गांधी का विमान देर करता तो इस कांग्रेस नेता की जान चली जाती.

दरअसल, इस साल 26 अप्रैल को राहुल गांधी एक प्राइवेट चार्टर्ड विमान से दिल्ली से कर्नाटक के हुबली जिले के लिए उड़े. विमान ने सुबह 9.20 पर उड़ान भरी. जब विमान 10.45 पर करीब 40 हजार फीट की ऊंचाई पर था तब इसका आटो पायलट फेल हो गया. जिसके चलते विमान एक तरफ झुकने लगा. हालात ये हुए कि विमान 13 सेकेंड बाद ही करीब 45 डिग्री तक झुक गया औऱ मात्र 15 सेकेंड में हवा से 735 फीट नीचे आ गया. इसके बाद किसी तरह से पायलटों ने विमान को नियंत्रित किया.

बड़ी मुश्किल के बाद किसी तरह पायलट विमान को 24 सेकेंड की मशक्कत के बाद सीधा करने में सफल हुए. खास बात ये है कि विमान उड़ने के लिए पूरी तरह फिट थे औऱ उसमें मौजूद दोनों पायलट भी प्रशिक्षित थे. डीजीसीए की रिपोर्ट के मुताबिक अगर 15 सेकेंड की भी देरी प्लेन को सीधा करने में हो जाती तो प्लेन को दुर्घटनाग्रस्त होने से कोई रोक नहीं सकता था.

इस घटना के बाद जहां कांग्रेस में खलबली मच गई थी. वहीं सरकार ने भी बिना कोई रिस्क लेते हुए मामले की जांच कराने के आदेश दे दिए. अब जारी हुई जांच रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ कि सिर्फ 15 सेकेंड में राहुल गांधी के साथ कोई भी अनहोनी हो सकती थी.


Share Now :