मानसून सत्र के आखिरी दिन विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव !!

0
18
Share Now :

रायपुर – विधानसभा में मानसून सत्र के आखिरी दिन पर विपक्ष ने सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया है। इस पर चर्चा शुरू करते हुए कांग्रेस विधायक धनेन्द्र साहू ने कहा जब जनता का विश्वास सरकार से टूट जाता है, तब जनता की भावनाओं को ध्यान में रखकर विपक्ष होने के नाते हम सरकार पर अविश्वास जता रहे हैं

साहू ने कहा –

सरकार घमंड से भरी है, दंभी हो गई है। हम सरकार की गैरत जगाने खड़े हुए हैं। अभी भी आप अपनी गलतियों को सुधार सकते हैं। आज बस्तर से लेकर सरगुजा तक चारों ओर जनता कुशासन से त्रस्त है, हाहाकार मचा है।

धनेन्द्र साहू ने प्रदेश के कई हिस्सों में पड़ रहे सूखे को लेकर भी सरकार को खरी खोटी कही। साहू ने कहा की ये 15 सालों के पाप का फल है कि लगातार प्रदेश सूखे के हालात से गुजर रहा है। सरकार की आमदनी ऐसे ही नहीं बढ़ गई, प्राकृतिक संपदा का दोहन कर सरकार का बजट 90 हजार करोड़ तक जा पहुँचा है ।

पर्यावरण की चिंता किए बगैर प्राकृतिक संपदाओं का अंधाधुंध दोहन किया जा रहा है। साहू ने पुछा कि दोहन के बाद जो आय बढ़ रही है उसमें से कितनी राशि किसानों के लिए, कर्मचारियों के लिए, युवाओं के लिए खर्च हो रहा है ? साहू ने आरोप लगाया कि दोहन का लाभ चंद लोगों के हाथों में जा रहा है। सरकार भ्रष्टाचार के आकंठ में डूबी हुई है।

साहू ने आरोप लगाया कि सरकारी कार्यालयों में बिना रिश्वत दिए कोई काम नहीं हो रहा। सिटीजन चार्टर का कोई लाभ नहीं है। छोटे दफ्तर से मंत्रालय तक बिना भ्रष्टाचार काम नहीं हो रहा। राजनीतिक जनप्रतिनिधियों को दबाने-कुचलने के लिए सत्ता का दुरुपयोग हो रहा है।

साहू ने कहा की प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल को झूठे प्रकरण में फंसाया जा रहा है। देवती कर्मा, विमल चोपड़ा के साथ अत्याचार हो रहा है। कोई वर्ग खुश नहीं है। ऐसा कोई वर्ग नहीं है जो आंदोलनरत न हो। शिक्षाकर्मी, आंगनबाड़ी, मितानिन, कर्मचारी सब हड़ताल पर हैं।

 

 


Share Now :