भाजपा को जीत दिलाने आरएसएस का नया फार्मूला !!

0
28
Share Now :

रायपुर – राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के द्वारा छत्तीसगढ़ में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर एक गुप्त सर्वे किया गया था। इस सर्वे में भाजपा की हालत ख़राब होने की रिपोर्ट सामने आई है। रिपोर्ट के ख़राब मिलने के बाद अब संघ ने नया फार्मूला बनाया है। ये फार्मूला प्रदेश की 35 से 40 विधानसभाओं में नए चेहरों को खोजने का है भाजपा को प्रदेश में चौथी बार जीत दिलाने के लिए संघ ने इसकी शुरुआत भी कर दी है ।

संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने इन चेहरों की खोज के लिए रायपुर में एक बैठक ली। जिसमें अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के वर्तमान और पूर्व पदाधिकारियों को आमंत्रित किया गया । बैठक की ख़ास बात ये रही की इसमें महासमुंद से निर्दलीय विधायक विमल चोपड़ा भी शामिल हुए ।

विमल चोपड़ा विद्यार्थी परिषद से लंबे समय तक जुड़े रहे हैं। 2013 के विधानसभा में भाजपा से टिकट नहीं मिलने के बाद चोपड़ा ने निर्दलीय चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की। बता दे की होसबोले ने विद्यार्थी परिषद के पूर्व वरिष्ठ पदाधिकारियों को टिकट वितरण का जो फॉर्मूला बताया है , उसमें 35-40 फीसदी चेहरे बदलने से लेकर जीतने वाले उम्मीदवारों पर दांव लगाना है।

संघ के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने बताया की बैठक में उन विधानसभा सीटों पर नए चेहरे खोजने की रणनीति बनी , जहां संघ के सर्वे में भाजपा की हार के संकेत मिल रहे हैं।

मौजूदा कई विधायको से जनता है असंतुष्ट :

इन 35-40 सीटों के जो वर्तमान विधायक उनके काम से जनता खफा है। कई विधायक तो ऐसे पाए गए, जो आम आदमी की समस्या निपटाना तो दूर, अपने विधानसभा क्षेत्र में ही सक्रिय नहीं है । संघ का जो सर्वे हुआ है उसमे अब तक केवल 37 सीट पर ही भाजपा को सफलता मिलती दिख रही है। यही वजह है कि भाजपा को सत्ता की चौथी पारी दिलाने के लिए संघ ने युवा चेहरों को खोजना शुरू कर दिया है ।

 


Share Now :